Kashmir Ki Botal Mein Punjab Ka Pani Hai song Lyrics | Song 2019

Kashmir Ki Botal Mein Song - ये गाना अभी बहुत चल रहा है।  Kashmir Ki Botal Mein का Lyrics देखना या पढ़ना चाहते है तो आप यह से इस song को पढ़ सकते है।  आप ये से इस Kashmir Ki Botal Mein song का लिरिक्स कॉपी भी कर सकते है वो भी हिंदी में।
  • Featuring  :-  Angela Krislinzki
  • Lyrics Written :- Addynagar & Hamsar Hayat
  • Music :- Shatak Sharma 

Kashmir Ki Botal Mein Punjab Ka Pani Hai Lyrics In English 

ham sa na koee aashiq hai,

pana hai tujhako ye mera phaisala hai.

ham sa na ko aashiq yaar hai

, pana hai tujhako ye mera phaisala hai.

ab ke too je, toh jen na donga,

haath pakk ke ha main ro rok loonga.

chandee sa badan tera, son see javaanee hai,

mujhase ishk ka raaja hua, too husn ka raanee hai.

mujhase ishk ka raaja hua, too husn ka raanee hai.

barasaat ke mausam mein na julaph koee bikarao,

theher hau paani mein kaun aag lagaanee hai.

ungalee mee agunthee, jo pehane hua bathe ho,

zara ye to batta do to ye kisakee nishaanee hai.

main ishk ka sooraj hoo, chalatee hoo tere gam main,

too khushaboo lutatee hai, kya raat kee raanee ha.

hai ye josh kisakee mein ham vee zara deke,

kashmeer kee botal main panjaab ka paanee hai,

ye daur taarakakee bhee aaphat kee nishaanee hai.

himaachal valee maanavageet gil geet ke bol

bacho pe budhapa hai, budho pe javaanee hai

kaal dekh ke chup, ab deekhe hai chup kar,

wo dor hai bachhpan ka, yaih dor jawani hai.

ham sarasa koee divaana nahin hai,

jaana ye dhun jaan kyoon nahin hai,

ham sarasa koee divaana nahin hai,

jan yaah tune janu kau na hoee.

teree aashikee main kaisa nasha hai,

na chharuga tujhako too meree jaan ja hai.

chandee sa badan tera, son see javaanee hai,

mujhase ishk ka raaja hua, too husn ka raanee hai.

main ishk ka raaja hoo, too husn kee raanee hai,

mujhase ishk ka raaja hua, too husn ka raanee hai.

ham sa na koee aashiq hai,

pana hai tujhako ye mera phaisala hai.

ham sa na koee aashiq hai,

pana hai tujhako ye mera phaisala hai.

ab ke too je, toh jen na donga,

haath pakk ke ha main ro rok loonga.

chandee sa badan tera… ..

Kashmir Ki Botal Mein Punjab Ka Pani Hai Lyrics In Hindi  

हम सा न कोई आशिक़ है,
पना है तुझको ये मेरा फैसला है। 
 हम सा न को आशिक़ यार है 
पना है तुझको ये मेरा फैसला है। 
 अब के तू जे, तोह जेन ना डोंगा, 

 हाथ पक्क के हा मैं रो रोक लूंगा। 
 चंडी सा बदन तेरा, सोन सी जवानी है, 
 मुझसे इश्क का राजा हुआ, तू हुस्न का रानी है। 
 मुझसे इश्क का राजा हुआ, तू हुस्न का रानी है। 
 बरसात के मौसम में ना जुलफ कोई बिकराओ, 

 थेहेर हउ पानि में कौन आग लगानी है। 
 उन्गली मी अगुन्थी, जो पेहने हुआ बठे हो, 
 ज़रा ये तो बत्ता दो तो ये किसकी निशानी है। 
 मैं इश्क का सूरज हू, चलती हू तेरे गम मैं, 

 तू ख़ुशबू लुटती है, क्या रात की रानी हा। 
 है ये जोश किसकी में हम वी ज़रा देके, 
 कश्मीर की बोतल मैं पंजाब का पानी है, 
 ये दउर तारककी भी आफत की निशानी है। 

 हिमाचल वली मानवगीत गिल गीत के बोल 

 बचो पे बुढपा है, बुधो पे जवानी है 

 काल देख के चुप, अब दीखे है चुप कर, 

 वो डोर है बचपन का , यह डोर जवानी है। 
 हम सरसा कोई दिवाना नहीं है, 
 जाना ये धुन जान क्यूं नहीं है, 

 हम सरसा कोई दिवाना नहीं है, 

 जन याह तुने जनु कउ न होई। 

 तेरी आशिकी मैं कैसा नशा है, 

 ना छरुगा तुझको तू मेरी जान जा है। 

 चंडी सा बदन तेरा, सोन सी जवानी है, 

 मुझसे इश्क का राजा हुआ, तू हुस्न का रानी है। 

 मैं इश्क का राजा हू, तू हुस्न की रानी है, 

 मुझसे इश्क का राजा हुआ, तू हुस्न का रानी है। 

 हम सा न कोई आशिक़ है, 

 पना है तुझको ये मेरा फैसला है। 

 हम सा न कोई आशिक़ है, 
 पना है तुझको ये मेरा फैसला है। 
 अब के तू जे, तोह जेन ना डोंगा, 
 हाथ पक्क के हा मैं रो रोक लूंगा। 
 चंडी सा बदन तेरा… ।।
दोस्तों आपको ये कैसा लगा  Lyrics आप जरूर बताये Comment में  और साथ में इस Song का lyrics  को share भी जरूर करे। 

Post a Comment

0 Comments